deewana ( shayri )

वो कहते है , ग़ज़ल से दोस्ती अच्छी नहीं “राही” ,
पर मैं अगर शायर न होता तो दीवाना होता | H.P.RAHI

2 thoughts on “deewana ( shayri )”

Leave a Reply

Your email address will not be published.