parivartan ( shayri )

परिवर्तन मुझे कभी पसंद नहीं आया ,
यह बात अलग है के आदत पड़ ही जाती है कुछ रोज़ बाद ,
समय की चारागरी मुझ पर भी असर रखती है | H.P.RAHI

Leave a Reply

Your email address will not be published.